Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
Home / Uncategorized

Uncategorized

जानिए एहराम की हालत में औरतों का अपने चेहरे को खुला रखना कैसा है ???

जानिए एहराम की हालत में औरतों का अपने चेहरे को खुला रखना कैसा है ??? यह बात दुरुस्त है कि एहराम की हालत में औरत के लिये चेहरा को कपड़ा लगाना और इस तरह छुपाना मना है कि जिस से चेहरे पर कपड़ा लग जाये । लेकिन इस का मतलब …

Read More »

ईद के दोनों महीने कम नहीं होते का क्या मतलब है ? जानिए हदीस की रौशनी में

ईद के दोनों महीने कम नहीं होते का क्या मतलब है ? जानिए हदीस की रौशनी में हदीस : अबू बकरा रज़ि० नबी सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म के हवाले से बयान करते हैं कि आप सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म ने फ़रमाया : दो महीने ऐसे हैं कि कम नहीं होते , दोनों …

Read More »

मुहम्मद सल्ल० जब हज या उमरे से लौटते तो तीन मर्तबा ये तकबीर कहते थे …?

मुहम्मद सल्ल० जब हज या उमरे से लौटते तो तीन मर्तबा ये तकबीर कहते थे …? हदीस : हज़रत अब्दुल्लाह बिन उमर रज़ि० से रिवायत है कि रसूलुल्लाह सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म जब जिहाद , हज या उमरे से लौटते तो हर बुलन्दी पर तीन मर्तबा तकबीर कहते , उसके बाद …

Read More »

क़ुरआन ने दी नसीहत के सीधे रस्ते पर चलना ही इंसानों के लिए निजात है …? ज़रूर पढ़ें और एक शेयर करें …

क़ुरआन ने दी नसीहत के सीधे रस्ते पर चलना ही इंसानों के लिए निजात है …? जानिए कुजरान में अल्लाह तआला फरमाता है : यह बताए हुए अहकाम ही मेरा सीधा रास्ता है , तुम इसी पर चलो और दूसरे ( गलत ) रास्तों पर मत चलो , वरना वह …

Read More »

सफा और मरवा के बीच सई करने के बारे में क्या हुक्म है हदीस में ? जानिए

सफा और मरवा के बीच सई करने के बारे में क्या हुक्म है हदीस में ? जानिए इब्ने उमर रज़ि० कहते हैं कि नबी सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म जब पहला तवाफ़ करते थे तो तीन बार रमल ( दुलकी चाल ) चला करते थे और चार बार साधारण चाल से चला …

Read More »

नरमी और मेहरबानी करने वाले शख्स के लिए अल्लाह तआला की होती है ये नैमतें ? जानिए

नरमी और मेहरबानी करने वाले शख्स के लिए अल्लाह तआला की होती है ये नैमतें ? जानिए हदीस : हज़रत मुआजा रज़ि० रिवायत करते हैं कि रसूलुल्लाह सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म ने कबीला अब्दे कैस के सरदार हज़रत अशज रज़ि० से इर्शाद फ़रमाया : तुममें दो खसलतें ऐसी हैं जो अल्लाह …

Read More »

एक प्याले दूध से 40 भूखे लोगों का पेट भर गया, सुभान अल्लाह – पढ़िए ये खूबसूरत हदीस !

एक प्याले दूध से चालीस भूखे लोगो का पेट भर गया, पढ़िए ये खूबसूरत हदीस ! हजरत अली रिवायत करते हैं कि अब्दुल मुत्तलिब के खानदान में चालीस आदमी थे, इनमें कुछ लोग इतने मज़बूत और ताक़तवर थे कि एक अकेला आदमी पूरी बकरी खा जाता और आठ सैर दूध …

Read More »

हज़रत ईमाम हुसैन रजी अल्लाहू अन्हू से सीखो कैसे किया जाता है माँ का अदब ? पढ़कर शेयर करें !

जानिए कैसे किया जाता है माँ का अदब ? पोस्ट पढ़कर ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करें ! माँ का अदब हज़रत ईमाम हुसैन रजी अल्लाहू अन्हू ने अपनी वालिदा ख़ातूने जन्नत सय्यदा फ़ातिमा ज़ेहरा रजी अल्लाहू अन्हा के साथ खाना खाना छोड़ दिया सय्यदा फ़ातिमा ज़ेहरा रजी अल्लाहू अन्हा ने …

Read More »

गुनाह लिखने वाला फरिश्ता इंसान के गुनाह को कब तक नहीं लिखता है ? पढ़िए ये हदीस

गुनाह लिखने वाला फरिश्ता इंसान के गुनाह को कब तक नहीं लिखता है ? पढ़िए ये हदीस हदीस : हज़रत अबू उमामा रज़ि० से रिवायत है कि आप (रसूलुल्लाह सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म) ने इर्शाद फ़रमाया : यकीनन बाएं तरफ का फरिश्ता गुनहगार मुसलमान के लिए छ : घड़ियां ( कुछ …

Read More »

क़ुरआन की नसीहत : अपने ताल्लुक़ात कैसे होने चाहिए ? जानिए

क़ुरआन की नसीहत : अपने ताल्लुक़ात कैसे होने चाहिए ? जानिए क़ुरआन में अल्लाह तआला फरमाता है : ऐ ईमान वालो ! तुम मुसलमानों को छोड़ कर काफिरों को अपना दोस्त मत बनाओ । ( यानी काफिरों से दिली तअल्लुक़ मत रखो के उस में ईमान व आमाल दोनों के …

Read More »