Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
Home / हदीस / सही बुखारी शरीफ

सही बुखारी शरीफ

दीनार के बदले दीनार उधार बेचना कैसा है ? जानिए हदीस की रौशनी में

दीनार के बदले दीनार उधार बेचना कैसा है ? जानिए हदीस की रौशनी में हदीस : अबू सईद रज़ि० कहते हैं कि अशरफी को अशरफी के बदले और दिरहम को दिरहम के बदले बराबर बराबर बेचना जाइज़ है । उनसे कहा गया कि इब्ने अब्बास रज़ि० तो इसके पक्ष में …

Read More »

जानिए चांदी के बदले चांदी बेचना कैसा है ? पढ़ कर शेयर करें

जानिए चांदी के बदले चंडी बेचना कैसा है ? पढ़ कर शेयर करें हदीस : अबू सईद खुदरी रज़ि० कहते हैं कि नबी सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म ने फ़रमाया : सोने को सोने के बदले न बेचो सिवाय इसके कि वज़न में बराबर हो , एक और ज़्यादा और दूसरी और …

Read More »

चांदी का सोने के बदले उधार बेचना कैसा है ? जानिए

चांदी का सोने के बदले उधार बेचना कैसा है ? जानिए बरा बिन आज़िब और ज़ैद बिन अरक़म रज़ि० से किसी के बैअ सर्फ के बारे में पूछा गया तो इन दोनों में से हर एक ने दूसरे के बारे में कहा कि यह मुझसे बेहतर है इनसे पूछ लो …

Read More »

क्या जुमुआ के दिन इमाम भी मिंबर पर बैठ अज़ान का जवाब दे ? जानिए हदीस की रौशनी में

क्या जुमुआ के दिन इमाम भी मिंबर पर बैठ अज़ान का जवाब दे ? जानिए हदीस की रौशनी में हदीस: मुआविया बिन अबी सुफ़यान रजि० का बयान है कि वह जुमुआ के दिन मिंबर पर बैठे हुए थे कि मुवज़्ज़िन ने अज़ान दी । तो जब उसने अल्लाह अकबर अल्लाह …

Read More »

शौहर के भाइयों से पर्दा करने का शरीयत में क्या हुक्म है ??? ज़रूर पढ़ें

शौहर के भाइयों से पर्दा करने का शरीयत में क्या हुक्म है ??? ज़रूर पढ़ें रसूलउलश सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म ने फ़रमाया : ” ( ना महरम ) औरतों के पास आने जाने से बचो ! एक अन्सारी सहाबी ने अर्ज़ किया : देवर के बारे में आप क्या फरमाते हैं …

Read More »

जब किसी औरत को तवाफ़े अफाजा करने के बाद माहवारी (women period) आ जाए तो क्या करें ???

जब किसी औरत को तवाफ़े अफाजा करने के बाद माहवारी आ जाए तो क्या करें ??? हदीस : इब्ने अबास रज़ि० कहते हैं कि जिस औरत को तवाफ़े अफ़ाज़ा के बाद माहवारी आ जाये  उसके लिए जाईज़ है कि मक्का से चली जाये । ताउस कहते हैं कि मैंने इब्ने …

Read More »

जानिए हजरे असवद ( काबा से लगा काला पत्थर ) के बारे में हदीस के अंदर ये बयान किया गया है ? ज़रूर पढ़ें

जानिए हजरे असवद ( काबा से लगा काला पत्थर ) के बारे में ये ब्यान किया गया है ? ज़रूर पढ़ें उमर रज़ि० से बयान किया गया है कि वह तवाफ़ में हजरे अस्वद के पास आये फिर उसको चूमा और कहा कि बेशक मैं जनता हूँ कि तू एक …

Read More »

नबी सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म का शजरा के रास्ते से हज्ज के लिए जाना साबित है ।

नबी सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म का शजरा के रास्ते से हज्ज के लिए जाना साबित है । अब्दुल्लाह बिन उमर रज़ि० का बयान है कि नबी सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म हज्ज के लिए शजरा के रास्ते से जाते थे और मुअर्रस के रास्ते से वापस आते थे । और जब नबी सल्लसल्लाहु …

Read More »

नबी सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म का कहना कि अकीक नाम की घाटी एक पवित्र घाटी है ? ज़रूर पढ़ें और शेयर करें …

नबी सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म का कहना कि अकीक नाम की घाटी एक पवित्र घाटी है ? हदीस : उमर रज़ि० कहते हैं कि मैंने नबी सल्लसल्लाहु अलैहि वसल्ल्म को अक़ीक़ की घाटी में यह फरमाते हुए सुना : आज रात मेरे रब की और से एक आने वाला आया और …

Read More »

हज्जे मबरुर कि फ़ज़ीलत ( प्रधानता ) क्या है ? और जिसका हज कामिल हुआ उसके लिए खुशखबरी

हज्जे मबरुर कि फ़ज़ीलत ( प्रधानता ) क्या है ? और जिसका हज कामिल हुआ उसके लिए खुशखबरी हदीस: हज़रत आयशा रज़ि० ब्यान करती हैं कि उन्होंने पूछा ऐ अल्लाह के नबी ! हम जिहाद को बहुत बड़ी इबादत समझते हैं तो क्या हम लोग जिहाद न करें ? तो …

Read More »